इस युवक की बकरी पर बिगड़ी नीयत, बकरी को ये खिलाकर करता था गंदा काम सामने आई ये खौफनाक सच्चाई !

व्यक्ति की नीयत बदलने में ज्यादा समय नहीं लगता है चाहे वह किसी भी चीज को लेकर क्यों ना हो. इसीलिए कई लोग चोरी, लूटपाट, क्राइम इत्यादि जैसी चीजों का का सहारा लेते हैं. जिस इंसान को किसी चीज की रत लग जाती है तो वह जल्दी नहीं छूटती चाहे वह कितनी भी अच्छी क्यों ना हो. तो आज हम आपको ऐसे ही एक खबर के बारें में बताने जा रहे हैं. जिसे सुनकर आपको यकीन होगा तो चालिए आपको ऐसी ही एक खबर से रुख करवाते हैं.

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में सामने आए एक मामले ने पुलिस को हैरान कर दिया दुर्ग-भिलाई पुलिस ने एक संदिग्ध व्यक्ति को गिरफ्तार कर पूछताछ की है इस दौरान आरोपी ने जो बयान दिया सुनकर पुलिस वालों के कान खड़े हो गए इसके बाद पुलिस ने गिरोह के सरगना को गिरफ्तार कर इस पूरे मामले का पर्दाफाश किया.

Loading...

आपको बता दें कि मिली जानकारी के अनुसार शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों से बकरा बकरी चोरी कर शहर के कसाई के पास बेचने वाले एक बकरा चोर गिरोह के तीन सदस्यों और एक खरीदार को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है. आरोपियों ने सप्ताह भर पहले शहर से लगे रानीतराई थाना क्षेत्र के ग्राम गब्दी से एक बकरा और पांच बकरी चोरी की थी जिसे आरोपियों ने कैंप-२ के एक कसाई के पास बेचा था. इसी के साथ आरोपियों से जब्त बकरे और घटना में प्रयुक्त वाहन की कीमत ढाई लाख रुपए आंकी गई है.

क्राइम ब्रांच प्रभारी रोहित मालेकर ने बताया कि बकरा चोरी के मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है बकरा चोर के मुख्य नाम बताएं हैं जिसमें मो. सफी (42), बल्लू कटारे (40), किशोर कुमार साव (22) है जिन्होंने इस घटना का अंजाम दिया है आरोपी बकरियों के सामने ब्रेड फेंककर उन्हें अपने पास बुलाते थे और फिर उन्हें वैन में खींच कर ले जाते थे आरोपियों ने जानवर की चोरी करने के बाद उसे कैम्प 2 संतोषी पारा निवासी मो. हमीद 30 के पास बेचा दिया करता था.

आपको बता दें कि टीआई मालेकर ने बताया कि आरोपी गिरोह का सरगना सफी पहले भी बकरा चोरी के मामले में गिरफ्तार हो चुका है. इसी आधार पर पुलिस ने आरोपी को पकड़कर और उससे पूछताछ करने पर पता चला कि उसने अपने साथियों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया. इसी आधार पर पुलिस ने आरोपी के दोनों साथियों व खरीददार को गिरफ्तार किया.

loading...

Add a Comment

Your email address will not be published.