छत्तीसगढ़: सुकमा में बड़ा नक्सली हमला, 9 जवान शहीद व कई घायल

रायपुर: छत्तीसगढ़ के नक्सलवाद से प्रभावित सुकमा जिले में नक्सवादियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर एंटी लैंडमाइन व्हीकल को उड़ा दिया है। इस घटना में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के नौ जवान शहीद हो गए हैं। कुछ अन्य जवानों के घायल होने की जानकारी है। सीआरपीएफ के अधिकारियों ने बताया कि जिले के किस्टाराम थाना क्षेत्र में नक्सवादियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर एंटी लैंडमाइन व्हीकल को उड़ा दिया है। इस घटना में सीआपीएफ के 9 जवान शहीद हो गए हैं। कुछ अन्य जवानों के घायल होने की सूचना है।
PunjabKesari
अधिकारियों ने बताया कि आज सीआपीएफ के 212वीं बटालियन के जवान एंटी लैंडमाइन व्हीकल में सवार होकर रवाना हुए थे। जब वह किस्टाराम थाना क्षेत्र में थे तब नक्सलियों ने एक शक्तिशाली विस्फोट में वाहन को उड़ा दिया। इससे बल के नौ जवान शहीद हो गए। इस घटना में कुछ अन्य जवानों के घायल होने की जानकारी है। उन्होंने बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद क्षेत्र में अतिरिक्त पुलिस बल को रवाना किया गया है। शवों और घायल जवानों को जंगल से बाहर निकालने की कार्रवाई की जा रही है। अधिकारियों ने बताया कि घटना जंगल के भीतर दुर्गम इलाके में हुई है। घटना के बारे में जानकारी ली जा रही है।
PunjabKesari
मुख्यमंत्री रमन सिंह ने ली आपात बैठक  
वहीं, सुकमा जिले में नक्सली हमले में नौ जवानों के शहीद होने की घटना के बाद मुख्यमंत्री रमन सिंह ने उच्च अधिकारियों की आपात बैठक ली और नक्सल विरोधी अभियान तेज करने के लिए कहा है। आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां बताया कि सुकमा नक्सली हमले मामले को लेकर आज मुख्यमंत्री रमन सिंह की अध्यक्षता में उनके निवास कार्यालय में शाम को आपात बैठक बुलाई गई।  बैठक में मुख्यमंत्री के सलाहकार सुनिल कुमार, मुख्य सचिव अजय सिंह, गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव बी. वी. आर. सुब्रमनियम, मुख्य मंत्री के प्रमुख सचिव अमन कुमार सिंह, पुलिस महानिदेशक ए. एन. उपाध्याय, विशेष पुलिस महानिदेशक नक्सल ऑपरेशन डी.एम. अवस्थी और अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।
PunjabKesari
सुरक्षा बलों की चूक नहीं
छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिदेशक(नक्सल आपरेशन) डी.एम.अवस्थी ने सुकमा जिले में नक्सलियों द्वारा आज एंटी लैण्ड माइन्स वाहन को विस्फोट से उड़ा देने की घटना में फिलहाल सुरक्षा बलों की किसी चूक से इंकार किया है। अवस्थी ने  ने स्वीकार किया कि गुप्तचर यूरों(आईबी) का एलर्ट मिला था लेकिन इस इलाके में जहां हर क्षण सुरक्षा बलों एवं नक्सलियों के बीच सामना होता रहता है और फायरिंग होती रहती है ऐसे में एलर्ट का खास मायने नही रह जाता। यह नक्सलियों का कोर इलाका है। इलाके में तैनात सुरक्षा बलों को किसी खुफिया सूचना से कहीं अधिक जानकारी होती है।

Loading...

त्रुटिपूर्ण नीतियों के कारण आतंरिक सुरक्षा की स्थिति बिगड़ी: कांग्रेस
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जवानों के शहीद होने पर शोक जताते हुए कहा कि इस घटना से त्रुटिपूर्ण नीतियों के कारण आतंरिक सुरक्षा की स्थिति बिगडऩे के बारे में पता चलता है।  राहुल ने ट््वीट कर कहा, ‘‘छत्तीसगढ़ के सुकमा में माओवादी हमले में नौ सीआरपीएफ जवानों की जान जाना त्रासदीपूर्ण है। इससे त्रुटिपूर्ण नीतियों के कारण आतंरिक सुरक्षा की स्थिति बिगडऩे के बारे में पता चलता है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मारे गये लोगों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदना। घायल हुए लोगों के जल्द स्वस्थ होने की मैं कामना करता हूं।’’

राजनाथ का सुकमा के शहीदों को नमन
केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने छत्तीसगढ के सुकमा जिले में नक्सलियों के हमले में शहीद हुए केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ)के जवानों की बहादुरी को नमन किया है और उनके परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट की है।  गृह मंत्री ने सीआरपीएफ के महानिदेशक से बात कर हमले के बारे में जानकारी ली है और उन्हें स्थिति का जायजा लेने के लिए छत्तीसगढ़ रवाना होने के लिए कहा है। नक्सलियों द्वारा किये गये बारूदी सुरंग विस्फोट में 9 जवान शहीद हो गये और दो घायल हो गए।

loading...